संगीत समारोह में मालिनी अवस्थी का गायन तो येल्ला का मृदंगम् श्रोताओं को झुमाएगा, अगले वर्ष के तिथि की हुई घोषणा...

Ella's Mridangam and Malini Awasthi's rendition will enthrall the audience

संगीत समारोह में मालिनी अवस्थी का गायन तो येल्ला का मृदंगम् श्रोताओं को झुमाएगा, अगले वर्ष के तिथि की हुई घोषणा...

वाराणसी,भदैनी मिरर। श्री संकटमोचन संगीत समारोह की छठवीं और 99 वें वर्ष की आखिरी निशा में एक से बढ़कर एक कलाकार मंचसीन होंगे। आखिरी निशा के बाद से ही शताब्दी वर्ष की शुरुआत होगी। पिछले पांच दिनों से रसिकजनों ने संगीत की स्वरलाहरियों में गोता लगाते रहे, हनुमत दरबार में अपनी श्रद्धा निवेदित करते रहे। 

रविवार को संगीत समारोह के पांचवें निशा के प्रस्तुतियों की शुरुआत होने से पहले जैसे ही अगले वर्ष शताब्दी समारोह की उद्घोषणा की गई, पूरा हनुमत दरबार 'हर-हर महादेव' के जयघोष से गूंज उठा। अगले वर्ष 6 अप्रैल को हनुमत जयंती का आयोजन होगा, उसके बाद चार दिवसीय केवल सार्वभौम रामचरित मानस सम्मेलन के बाद 10 अप्रैल से 15 अप्रैल तक संकटमोचन संगीत समारोह का आयोजन होगा। 

पांचवीं निशा में डॉ येल्ला वेंकटेश्वर का  मृदंगवादन उसके बाद कविता कृष्णमूर्ति का गायन होगा। एस. आकाश की बांसुरी और मालिनी अवस्थी का गायन भी श्रोताओं को भायेगा।