स्वास्थ विभाग की तैयारी पूरी, सम्पन्न हुआ ड्राई-रन, 16 से शुरु होगा वैक्सीनेशन…

                             

  Ford Hospital                           

वाराणसी। कोरोना के वैक्सिनेशन के लिए स्वास्थ विभाग अपनी तैयारी पूरी करने के लिए कमर तोड़ मेहनत कर रहा है। जनपद में सोमवार को ड्राई-रन का दूसरा चरण संचालित किया गया। पहले चरण में 5 जनवरी को 6 स्थलों पर ड्राई-रन संचालित किया गया था। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीबी सिंह ने जिला महिला चिकित्सालय पर ड्राई रन का निरीक्षण किया। उन्होने बताया कि दूसरे चरण में सोमवार को शहरी और ग्रामीण मिलाकर कुल 30 स्थलों पर 60 सत्रों में 30 लाभार्थियों (हेल्थ केयर वर्कर) का ड्राई रन सफलतापूर्वक संचालित किया गया। ड्राई-रन प्रातः 10 बजे से सायं 5 बजे तक चला। सभी सत्रों पर एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्यूनाईजेशन (एइएफआई) किट मौजूद थी। 

पूर्वाभ्यास के लिए 20 सरकारी अस्पतालों तथा 10 प्राइवेट अस्पतालों का चयन किया गया है। सभी सत्रों पर ड्राई-रन से संबन्धित तैयारियाँ पूर्ण कर ली गयी हैं तथा निगरानी के लिए सभी सत्रों पर नोडल अधिकारियों को तैनात कर दिया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि इसके साथ ही मुख्यमन्त्री और अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी जनपद में टीकाकरण से संबन्धित सम्पूर्ण जानकारी को अवगत करा दिया गया है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ वीएस राय ने बताया कि आज जिला महिला चिकित्सालय में नीतू चौरसिया (फ़ैमिली प्लानिंग काउंसेलर) को पहली डमी वैक्सीन का टीका लगाया गया है। टीकाकरण 16 जनवरी से शुरू होगा। पहले चरण में 18 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जायेगा। दूसरे में सरकारी कर्मचारियों और तीसरे चरण में जन सामान्य को टीका लगाया जायेगा। स्वास्थ्य विभाग ने टीके लगाने की तैयारियाँ ज़ोर-शोर से शुरू कर दी हैं।

पहले चरण में केवल हेल्थ वर्कर को कोविड-19 की वैक्सीन लगायी जायेगी। इसमें सरकारी एवं निजी रूप से संचालित चिकित्सालयों के हेल्थ वर्कर सम्मिलित हैं। इन सभी हेल्थ वर्करों से संबन्धित सूचना की फीडिंग का कार्य पोर्टल पर किया जा रहा है। अब तक कुल 18000 हेल्थ वर्करों का डाटा पोर्टल पर फीड हो चुका है।

जिला महिला चिकित्सालय में मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी, जिला महिला चिकित्सालय की सीएमएस डॉ लिली श्रीवास्तव सहित अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संजय राय, डॉ. एन.पी. सिंह, डॉ राजेश्वर सिंह, आईएमए के चिकित्सक, मेट्रन, एएनएम व स्टाफ मौजूद थे।  
 

             

         

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *