विकास कार्यों की गुणवत्ता को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट, डीएम ने टीम गठित कर दिया यह आदेश

                             

डीएम बोले जांच अधिकारियों की फोटो और परियोजनाओं की फोटोग्राफ्स जरुरी

  Ford Hospital                           

वाराणसी,भदैनी मिरर। गाजियाबाद के एक श्मशान घाट का छत गिरने के बाद विकास कार्यों पर उठे सवाल के बाद अब जिला प्रशासन गम्भीर हो गया है। डीएम वाराणसी कौशलराज शर्मा ने 50 लाख रुपए से अधिक धनराशि की पूर्ण एवं निर्माणाधीन 102 वृहद परियोजनाओं के निर्माण की भौतिक व स्थलीय जांच के निर्देश दिए है। डीएम ने अधिकारियों की 21 टीम गठित कर जांच रिपोर्ट 13 जनवरी तक तलब किया है।

जिलाधिकारी ने टीम के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे अपने आवंटित परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर, कार्य की भौतिक प्रगति, निर्माण कार्य की गुणवत्ता तथा परियोजना का इसके पूर्व किए गए थर्ड पार्टी निरीक्षण का विवरण एवं परियोजना निर्माण में आ रही अन्य कोई समस्या का उल्लेख करते हुए सारगर्भित अपनी जांच आख्या प्रत्येक दशा में 13 जनवरी तक उपलब्ध कराएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि मौके पर सत्यापन करते हुए जांच अधिकारियों की फोटो तथा परियोजना का भी फोटोग्राफ्स जांच आख्या के साथ अवश्य उपलब्ध कराया जाए। जिलाधिकारी ने एनएचआई, ब्रिज कारपोरेशन, पीडब्ल्यूडी, सीपीडब्ल्यूडी, यूपी सिडको, सीएंडडीएस, आवास विकास, यूपीपीसीएल, पैकफेड, राजकीय निर्माण निगम, गंगा प्रदूषण कंट्रोल यूनिट, कंस्ट्रक्शन डिविजन जल निगम, इलेक्ट्रिक सिटी, मंडी परिषद एवं स्मार्ट सिटी के पूर्ण हो चुके एवं गतिमान/निर्माणाधीन परियोजनाओं के भौतिक एवं स्थलीय सत्यापन किए जाने हेतु निर्देशित किया है। उन्होंने कार्यदाई संस्थाओं को कड़े निर्देश देते हुए कहा है कि निर्माणाधीन परियोजनाओं को प्रत्येक दशा में निर्धारित समय अवधि में मानक के अनुरूप गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाए। निर्माण कार्य के दौरान कार्यस्थल पर विभागीय जेई, एई की उपस्थिति हर हालत में सुनिश्चित कराया जाए। निर्माण कार्य स्थल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित कराया जाए। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

             

         

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *