पुलिस पर फायरिंग कर भाग रहा इनामिया मुठभेड़ में ढ़ेर, दो पुलिस जवान भी घायल

                             

एसएसपी बोले 50 हजार का था इनामिया, दो घटनाओं में थी मोनू की तलाश, असलहा और बाइक बरामद…

  Ford Hospital                           

वाराणसी,भदैनी मिरर। सारनाथ थाना क्षेत्र के रिंग रोड पर पुलिस देखकर फायरिंग कर भाग रहे दो बदमाशों से पुलिस का मुठभेड़ हो गया। पुलिस के घेरेबंदी के बाद बदमाश गाँव मे घुस गए, अंधेरे का फायदा उठाकर एक बदमाश फरार हो गया जबकि इनामिया बदमाश पुलिस की गोली से घायल हो गया। मुठभेड़ में एक दरोगा और एक सिपाही को भी गोली लगी। पुलिस ने घायल बदमाश को अस्पताल भेजवाया। मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा में इलाज के दौरान मौत हो गई। जबकि पुलिस जवानों का इलाज जारी है। सूचना मिलते ही मौके पर एसपी सिटी विकास चन्द्र त्रिपाठी पहुंच गए।

मिली जानकारी के मुताबिक मुठभेड़ में ढेर बदमाश मोनू चौहान बीते दिनों लालपुर में प्रेमा देवी के घर में घुसकर गोली मारने के मामले में वांछित था, इसके साथ ही एक अन्य मामले में भी पुलिस को इसकी तलाश थी। एसपी सीटी विकास चंद्र तिवारी ने बताया कि मोनू के साथ उसका एक साथी भी मौजूद था। एनकाउंटर के दौरान अधेरे का फायदा उठाकर वह फरार हो गया है।

प्रारंभिक सूचना के मुताबिक क्राइम ब्रांच और पुलिस को सूचना मिली कि बीते दिनों प्रेमा देवी की हत्या में शामिल मोनू इस वक्त रिंग रोड पर मौजूद है। जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी की, इस दौरान दोनों तरफ से गोलियां चली। इस एनकाउंटर में क्राइम ब्रांच के एक सिपाही और चौकी प्रभारी पांडेपुर इस मुठभेड़ में घायल हुए हैं। जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है। वहीं मोनू की इलाज के दौरान मौत हो गई है। बता दें कि शातिर मोनू सनी गिरोह का शूटर रह चुका है। इसे 2017 में तत्कालीन थानाध्यक्ष शिवानंद मिश्रा ने भी गिरफ्तार किया था। मूल रुप से चोलापुर के लाखी गांव का रहने वाला मोनू हाल में पाण्डेयपुर खजुरी इलाके में रह रहा था।

एसएसपी अमित पाठक ने कहा कि दीपावली के आसपास दो घटनाएं हुई थी, पहली जिसमे घड़ी व्यवसाई को गोली मारकर लूट हुई थी जिसमे व्यवसाई की मौत हो गई थी। दूसरी महिला सीमा देवी को पैसे के लेन देन में घर मे घुसकर गोली मारा था, जिसमे महिला को कंधे पर गोली लगी थी। दोनों घटना में पुलिस को दो नाम सामने आए पहला मोनू चौहान व उसका साथी अनिल। पुलिस को सूचना मिली कि मोनू किसी घटना को अंजाम देने रिंग रोड होते हुए कही जा रहा है। पुलिस ने जब उसे रोकने का प्रयास किया तो वह पुलिस पर फायर झोंक दिया। जिसमें दो जवान घायल है, एक बदमाश मौके से भाग गया जबकि कुख्यात अपराधी मोनू को मुठभेड़ में गोली लगने से मौत हो गई। मोनू के ऊपर वाराणसी जनपद में एक दर्जन से ऊपर मुकदमे दर्ज है। इसके पास है पुलिस को भारी संख्या में असलहे बरामद हुए है। एसएसपी ने बताया कि मोनू के ऊपर 50 हजार का इनाम घोषित था, एक लाख इनाम करने की प्रक्रिया जारी थी।

             

         

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *