31,277 बने सहायक अध्यापक, CM बोले बिना किसी भेदभाव के पूरी पारदर्शिता से मिल रही नौकरी

                             

1830 को काशी में मंत्री उपेंद्र तिवारी ने दिया नियुक्ति पत्र, बोले CM की सोच कान्वेंट विद्यालयों से ऊपर हो प्राथमिक विद्यालयों का स्तर

  Ford Hospital                           

लखनऊ/वाराणसी, भदैनी मिरर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती में पहले चरण में नियुक्त 31,277 चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरण की शुरुआत कर दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने आवास पर पांच अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए। तो वही प्रदेश भर में नवनियुक्त सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरित किए गए। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बिना किसी भेदभाव के पूरी पारदर्शिता के साथ लोगो को नौकरी मिल रही है। जिसमे कोई जातिवाद, भाई- भतीजावाद, क्षेत्रवाद व भ्रष्टाचार नहीं है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में वर्तमान समय में कोई भी प्राथमिक विद्यालय अध्यापक विहीन नहीं है। प्राथमिक विद्यालयों द्वारा बच्चों में शिक्षा की नींव रखी जाती है।ऐसे में प्राथमिक विद्यालयों में भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था के लिए डिजिटली व्यवस्था लागू की गई है। उन्होंने बताया कि 159000 प्राथमिक विद्यालयों में कायाकल्प कार्यक्रम योजना लागू है तथा 50,000 से अधिक विद्यालयों का कायाकल्प हो भी चुका है। प्राथमिक विद्यालयों में सभी बुनियादी सुविधाओ की उपलब्धता सुनिश्चित करा दी गई है तथा ऑनलाइन कक्षाएं भी संचालित की जा रही है, और नवरात्रि से एक दिन पूर्व नियुक्ति पत्र दिया जा रहा है कि महिलाओं के रूप में साक्षात देवी खुश रहें। सीएम ने कहा कि अगले 100 दिन में अभियान के चलाकर हर विद्यालय में शुद्ध पेयजल पाइप लाइन की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी। नवनियुक्त चयनित सहायक अध्यापकों की नियुक्ति पत्र वितरण में 6675 शिक्षामित्र भी हैं जिनका उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यानी शिक्षामित्रों में योग्यता व क्षमता थी। लेकिन पिछली सरकारों ने इसे नहीं पहचाना। इन शिक्षामित्रों को निकालने के आदेश के बावजूद योगी सरकार ने एडवांटेज लेकर उनका मानदेय बढ़ाकर उनसे शिक्षा कार्य लिया। 69 हजार में से शेष लोगो की भी भर्ती प्रक्रिया के संबंध में प्रयास होगा।

वही नियुक्ति पत्र देने काशी पहुंचे खेल, युवा कल्याण एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने सोनल चतुर्वेदी, रिशा कुमारी, मनोज कुमार, प्रियंका सिंह एवं शशांक सिंह को नियुक्ति पत्र उपलब्ध कराकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। इस दौरान उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री कि हमेशा सोच रही है कि प्राथमिक विद्यालय का स्तर एवं शिक्षा व्यवस्था कान्वेंट विद्यालयों से ऊपर हो। उत्तर प्रदेश की सरकार देश की पहली ऐसी सरकार है, जिसने प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को निःशुल्क ड्रेस, जूता-मोजा, स्वेटर आदि उपलब्ध कराया। इस दौरान वाराणसी के 230 एवं जौनपुर के 1600 चयनित अध्यापकों के चेहरे मंत्री उपेन्द्र तिवारी के हाथों मिले नियुक्ति पत्र से चमक उठे। इस दौरान नियुक्ति पत्र पाने वाली सहायक अध्यापक गद-गद थे। नवनियुक्त सहायक अध्यापिका रिशा कुमारी ने कहा कि योगी सरकार के सार्थक प्रयास एवं पारदर्शी व्यवस्था का परिणाम है कि 31277 लोगों को सहायक अध्यापक के रुप में सरकारी नौकरी मिल सकी है।

वहीं महानगर अध्यक्ष प्राथमिक शिक्षक संघ राजीव पांडेय ने ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि नवनियुक्त सहायक अध्यापकों के कंधे पर उन बच्चों का भविष्य संवारने का जिम्मा आ गया है जो देश के भविष्य हैं। प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक के पास ही बच्चे माता-पिता के बाद ज्यादा समय गुजारते हैं। ऐसे में इनका दायित्व ज्यादा है। छात्रों में शिक्षा, खेल के साथ-साथ प्रतिभाओं को निखारने का जिम्मा होता है। नियुक्ति पत्र पाकर सहायक अध्यापकों के चेहरे ही नहीं खिले हैं बल्कि उनके सपने साकार हुए हैं। हर शिक्षक चाहता है कि उसका विद्यार्थी ऐसे कीर्तिमान स्थापित करे जिससे न केवल परिवार बल्कि समाज और समूचे राष्ट्र का नाम रौशन हो। शिक्षक पगार का नहीं बल्कि सम्मान का भूखा होता है जब कोई विद्यार्थी गुरु दक्षिणा के रूप में कीर्तिमान स्थापित करता है तो उसकी ख़ुशी जाहिर करना शिक्षक के लिए कठिन पल होता है। उन्होंने कहा उम्मीद है की नवनियुक्त सहायक शिक्षक शिक्षा के अंतिम सौंदयानुभूति का विद्यार्थियों में विकास करेंगे।

इस अवसर पर विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक रोहनिया सुरेंद्र नारायण सिंह, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, डॉ सुदामा पटेल, अनिल राजभर, रामप्रकश दुबे, महेश चंद्र श्रीवास्तव, विद्यासागर राय के अलावा पार्टी पदाधिकारी एवं शिक्षा विभाग के अधिकारी सहित भारी संख्या में नवनियुक्त चयनित सहायक अध्यापक एवं उनके अभिभावक प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

             

         

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *