कोरोना का दंशः लॉकडाउन का पालन न करने वालों पर होगी सख्ती, जाएंगे जेल

                             

लॉकडाउन का पालन न होने पर पीएम मोदी भी नाराज, डीएम ने दिए सख्ती के निर्देश

लॉकडाउन का मतलब तफरी नहीं, एसएसपी ने भी महकमें को किया टाइट

  Ford Hospital                           

भदैनी मिरर, वाराणसी। करोना वायरस के संक्रमण को रोकेने के लिए केंद्र व राज्य सरकार की ओर से तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। वायरस का चेन तोड़ने के लिए ही रविवार को वाराणसी सहित देश भर में जनता कर्फ्यू लगाया गया। उसके बाद वाराणसी सहित यूपी के 15 जिलों को लॉकडाउन कर दिया गया है। इस लॉकडाउन का मकसद लोगों को घरों में ही रोकना है। लेकिन कतिपय लोगों ने इसे कर्फ्यू में ढील मानते हुए सड़कों पर तफरी करना शुरू कर दिया है। यह हाल केवल काशी में नहीं वरन पूरे देश में है। इससे पीएम नरेंद्र मोदी ने भी गहरी नाराजगी जताई है।

पीएम मोदी हुए नाराज़

पीएम मोदी ने ट्वीट कर हुए लिखा है कि, ‘लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।

पीएम के ट्वीट के बाद प्रशासन हुआ सतर्क

पीएम के ट्वीट के बाद राज्य सरकारें और जिला प्रशासन हरकत में आया। वाराणसी में डीएम कौशल राज शर्मा ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण एवं बचाव के लिए हर नागरिक लॉकडाउन का लोग पालन सुनिश्चित करें, अन्यथा नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। इसके तहत लोगों को जेल भी भेजा जा सकता है। उन्होंने बताया कि जिले में धारा 144 लागू है जिसके तहत एक स्थान पर 5 से ज्यादा व्यक्ति एकत्र नहीं हो सकते। धारा 144 का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध संगत धाराओं में कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने कहा है कि अपने जीवन के साथ दूसरों के भी जीवन की सुरक्षा में लोग सहयोगी बने और लॉकडाउन के दौरान अपने-अपने घरों में ही रहें।

नागरिक मिली सुविधाओं का दुरुपयोग न करें

डीएम ने नागरिकों को सख्त लहजे में चेताया है कि वो मिली सुविधाओं का दुरुपयोग न करें। उन्होंने कहा कि नागरिकों के दैनिक आवश्यकता से जुड़ी वस्तुओ से संबंधित कतिपय दुकानों के संबंध में राहत दी गई है। इसका मतलब यह कतई नहीं कि उन्हें घूमने की छूट दे दी गई है।

पंचक्रोशी चौराहे पर भीड़ की सूचना पर भड़के

लॉकडाउन के पहले दिन सोमवार को पंचकोशी चौराहा पर अत्यधिक संख्या में लोगों के एकत्र होने की जानकारी पर जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट को केंद्र एवं प्रदेश सरकार के निर्देशों का लॉकडाउन संबंध में पालन सुनिश्चित कराए जाने हेतु निर्देशित किया।

पूरे वाराणसी जनपद में धारा 144 लागू

डीएम ने बताया कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जनहित में 23 से 25 मार्च तक कुछ विशेष प्रतिबंध लगाए गए हैं। पूरे जनपद में धारा 144 लागू की गई हैं। इस अवधि में सभी नागरिक आपातकालीन स्थिति को छोड़कर अपने-अपने घरों में रहेंगे। सभी निजी दोपहिया, तीन पहिया, चार पहिया वाहन एवं साइकिल का संचालन पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा।आवश्यक सेवाओं की किसी को आवश्यकता होगी, तो वह अपने मोहल्ले स्थित दुकान से ही सामान
खरीदेगा व इसके लिए कोई वाहन प्रयोग नहीं होगा।

टैक्सी, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा का संचालन प्रतिबंधित, सीमाएं सील

टैक्सी, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा का परिवहन एवं संचालन बंद रहेगा। सभी वाणिज्यक प्रतिष्ठान, दुकाने, शैक्षिक संस्थान, रेस्टोरेंट, होटल पूर्ण रूप से बंद रहेंगे। नागरिक सोशल डिस्टेंस गाइडलाइन का पालन करेंगे। जनपद के बॉर्डर सील रहेंगे। बाहर से आने वाले वाहन जनपद के अंदर प्रवेश नहीं करेंगे।

केवल आवश्यक वस्तुओं का विक्रय करने वाली दुकानें खोलने की इजाजत

केवल आवश्यक वस्तुओं का विक्रय करने वाली दुकानें और प्रतिष्ठान जैसे-अनाज, गल्ला, किराना, जनरल स्टोर, दूध, रसोई गैस, पेट्रोल पम्प, एलपीजी गैस, सीएनजी स्टेशन, सब्जी, फल, दवाई की दुकानें, पेय पदार्थ, बेकरी, डेयरी दुग्ध/डेयरी प्लान्ट ट्रांसपोर्ट, लाजिस्टिक्स, कूरियर, वेयर हाउस, शीतगृह, खाद्य प्रसंस्करण से सम्बन्धित इकाईयॉ और पैथोलॉजी लैब से जुड़े रिटेल एवं होलसेल की दुकानें/प्रतिष्ठान पर प्रतिबन्ध लागू नहीं है।

डॉक्टर क्लिनिक और सभी निजी अस्पताल भी खुले

मोबाइल कम्पनी आफिस, बीमा कम्पनी आफिस, स्वास्थ्य उपकरण, सोप, सेनेटाइजर बनाने वाली फेक्ट्री, पोस्ट ऑफिस, ई-कॉमर्स डिलेवरी ऑफिस, विद्युत के सभी कार्यालय पशु चारा गोदाम/दुकान, गैस एजेन्सी, दूरदर्शन, आकाशवाणी, न्यूज पेपर, मीडिया के ऑफिस और प्रेस पर प्रतिबन्ध लागू नहीं होगा।

ये दफ्तर भी खुले रहेंगे

स्वास्थ्य विभाग, सभी हेल्थ फैसिलिटी, नगर निगम/ निकाय के सभी कार्यालय, छावनी परिषद, कानून व्यवस्था, न्याय सुधार सेवाएं, पुलिस सशस्त्र बल, अर्धसैनिक बल, पेयजल, विलिंग रोन्टर, अग्निशमन, नागरिक सुरक्षा और आपातकालीन सेवाओं के समस्त कार्यालयों पर प्रतिबंध लागू नहीं होगा।

विदेशी नागरिकों को स्वयं होम कोरोन्टाइन का निर्देश

वाराणसी में उपस्थित सभी विदेशी नागरिक स्वयं को अपने निवास स्थान (यथा-होटल, गेस्ट हाउस, पेईग गेस्ट हाउस, लॉंज, निजी आवास तथा सरकारी गेस्ट हाउस) पर ही स्वयं होम कोरोन्टाइन रखे। ये केवल तभी आने-जाने के लिये स्वतंत्र होंगे जब इन्हें शहर छोड़कर जाना होगा।

विदेशियों को शरण देने वाले भवन स्वामियों को दी हिदायत

इस निर्देशों को लागू कराने की पुरी जिम्मेदारी उस भवन स्वामी की होगी, जिसमें विदेशी नागरिक रूके हुए हैं। ऐसे सभी भवन स्वामी यह निर्देश व्यक्तिगत रूप से सभी विदेशी नागरिकों को तामील करायें। किसी भी दशा में विदेशी नागरिक भवन को छोडकर बाहर न जाएं। होम कोरोन्टाइन की दशा में उनकी सुख-सुविधा का ध्यान रखने की जिम्मेदारी भवन स्वामियों की होगी ।सभी विदेशी नागरिकों के स्वास्थ्य पर भी पर्याप्त ध्यान भवन स्वामियों द्वारा रखा जायेगा तथा किसी भी विदेशी नागरिक को सर्दी, जुकाम, बुखार की शिकायत होती है तो तत्काल कन्ट्रोल रूम (लैण्डलाइन नं0-0542- 2508077 एवं मो०नं०-8114001673 तथा जिला मलेरिया अधिकारी के मो0नं0 – 9119814954) पर तत्काल सम्पर्क कर सूचित करेंगे।

ढाबा, चाय-पान की दुकानें 29 तक बंद

सभी ढाबे, मिष्ठान भंडार, जलपाल गृह, रेस्टोरेंट, कोंफी हाउस, कैफे, खाने पीने की, चाट-स्नैक्स की दुकानें, ठेले (सब्जी फल छोड़कर), तम्बाकू गुटखा, पान, चाय की दुकानें दिनांक 29.03.2020 तक बन्द रहेंगे।

सामान्य ओपीडी भी 29 तक बंद

डीएम ने बताया कि अधिकाधिक लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए और केवल जरूरी मरीजों पर फोकस करने के लिए जिले के सभी निजी और सरकारी अस्पतालों और क्लीनिक्स पर सामान्य ओपीडी 29 मार्च, 2020 तक बंद की जाती हैं। इनमें केवल इमरजेंसी और सर्दी/कोल्ड/फुलू/बुखार सम्बन्धी मरीज ही देखे जाएंगे। इमरजेंसी में हर प्रकार की बीमारी की इमरजेंसी देखी जाएगी। सरकारी अस्पतालों में दोनों शिफ्ट में सर्दी/कोल्ड/फुलू/ बुखार/कोरोना की ओoपीoडी० चलाई जाएगी। गैर जरूरी मरीज फोन से ही अपने डॉक्टर से सम्पर्क कर सीधे दवा खरीदें और संक्रमण से बचें। डीएम ने कहा कि इन आदेशों में वर्णित प्रतिबंधों की अवहेलना अथवा आदेश के किसी अंश का उल्लघन भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा।

एसएसपी ने किया ताकीद

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने कहा है कि जिले में कोरोना वायरस के रोकथाम के दृष्टिगत 23 से 25 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है। पुलिस द्वारा लॉकडाउन को प्रभावी रूप से लागू करने के लगातार प्रयास करने के बाद भी कुछ लोग झूठे बहाने बनाकर अपने निजी (दो पहिया/चार पहिया) वाहन से घूम रहे हैं। सड़क पर इकट्ठा हो रहे हैं और लॉकडाउन की व्यवस्था को बनाये रखने में सहयोग नहीं कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में जो भी व्यक्ति लॉकडाउन की व्यवस्था का पालन नहीं करेंगे उनके दो/चार पहिया वाहन को चालान/सीज़ किया जायेगा। जहां भीड़ इकट्ठा हो रही है, समझाने-बुझाने से नहीं मान रहे है तथा जनपद में लॉकडाउन व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग नहीं कर रहे हैं उनके विरूद्ध अभियोग पंजीकृत कर सख़्त कार्रवाई की जाएगी। इसके अतरिक्त लॉकडाउन व्यवस्था प्रभावी होने का विरोध करने वालों के विरूद्ध भी अभियोग पंजीकृत कर सख्त वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

             

         

2 thoughts on “कोरोना का दंशः लॉकडाउन का पालन न करने वालों पर होगी सख्ती, जाएंगे जेल

  1. Simply wish to say your article is as amazing.
    The clarity in your post is simply nice and i
    could think you’re knowledgeable in this subject.
    Well with your permission let me to grasp your feed to
    keep up to date with drawing close post. Thank you 1,000,000 and please
    keep up the rewarding work.

    Also visit my web blog buy CBD

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *